अयोध्या में मनाई गई त्रेता युग वाली दिवाली, सीएम योगी और राज्यपाल ने की भगवान राम की आरती 

अयोध्या। अयोध्या में दिवाली से पहले छोटी दिवाली मनाई गई। सरयू नदी के तट पर योगी सरकार द्वारा यह भव्य दिवाली मनाई गई। इस मौके पर त्रेता युुग को याद करते हुए मुख्यमंत्री ने भगवान राम का राज्यभिषेक किया। 
 
यूपी में योगी सरकार के आने के बाद से प्रदेश में राम मंदिर को लेकर हलचले तेज हो गई है। इसी क्रम में प्रदेश सरकार ने पहली बार अयोध्या में त्रेता युग को याद करते हुए दिवाली मनाई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल राम नाईक ने भगवान राम के पुष्पक विमान जैसे सजाएं गए हेलीकाप्टर से उतरे राम लक्ष्मण और सीता का अयोध्या नगरी में स्वागत किया। मुख्यमंत्री योगी ने भगवान राम का स्वागत मुनि वशिष्ठ के रूप  में की। 
 
मुख्यमंत्री ने इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि इस आयोजन के जरिये हमें रामराज्य की परिकल्पना को साकार करना है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के चार चरण पूरे होना हैं। अभी पहला ही चरण चल रहा है। यह दिवाली महापर्व देश व दुनिया को अयोध्या ने दिया है।
 
अयोध्या लगातार प्रहार झेलती रही है। 135 करोड़ की लागत से अयोध्या में परियोजनाएं लाई गईं हैं। पीएम मोदी के नेतृत्व में यह देश आगे बढ़ रहा है। जिस गरीब के घर कभी बिजली नहीं थी, जिसके घर कभी गैस सिलेंडर नहीं आया, आज उसके घर यदि ये सब आ गया है तो यह रामराज्य ही तो है।
 
अयोध्या के सरयू नदी पर स्थित राम की पैड़ी में 1,71,000 दीप जलाए गए।  यह दीप अयोजन सभी घाटों पर हुए। दूर से देखने पर यह नजारा मानों आकाश में बिखरे लाखों तारों की तरह नजर आ रहा था। नया घाट पर लेजर शो के जरिए रामकथा का प्रदर्शन किया गया। 
 

You May Also Like